Category archives for: Humour

बही खाते …  नए या पुराने

संतराम बजाज दिवाली और बहीखातों की बात चली तो नीना जी (सम्पादिका The Indian Down Under) ने एक पिटारा सा खोल दिया| हम तो साहूकारों और बनिया लोगों की बात कर रहे थे | उन बहीखातों की जो लाल रंग की मोटी सी पोथी की तरह कई पडतों या तहों में लम्बी सी किताब की […]

हाय ये बीमारियाँ (भाग २) – कान की सफाई   

  …संतराम बजाज एक बार पहले भी मैं इस विषय पर लिख चुका हूँ, कि तरह तरह की माडर्न बीमारियों ने परेशान कर  रखा है हर एक को| शायद ही कोई हो, जिसे कोई रोग न हो | और फिर उन्हें काबू में लाने के लिए, दवाईयों का सेवन,  भोजन करने की तरह आवश्यक हो […]

Too many possessions that we don’t need

By Melvin Durai My wife and I recently moved from one house to another. The two houses are three miles apart within the same college town, but it was nevertheless a stressful move. That’s because we’ve accumulated too many possessions in our 17 years of marriage. Only three of our possessions are priceless, and moving […]

When Sydney couldn’t stop laughing to Amit Tandon’s comedy!

By Neeru Saluja Stand-up comedian Amit Tandon created ripples of non-stop laughter with his debut performance in Sydney. As he touched many chords by recalling what it is living and growing up in India, the ‘married guy’ lived up to his reputation with highly relevant comedy that he had prepared for the audience here. With […]

ब्रेकिंग न्यूज़… संतराम बजाज

ब्रेकिंग न्यूज़ संतराम बजाज मेरे लिए यह ‘ब्रेकिंग न्यूज़’ एक मसला बना हुआ है| जब भी टीवी को समाचार सुनने के लिए ऑन करो, ब्रेकिंग न्यूज़ ही नजर आती है| अब मेरी समझ में नहीं आता कि यह क्या हो रहा है| पहले होता यह था कि कोई बहुत ही जरूरी घटना घटी हो तो […]

Talented chicken can teach us a lot

By Melvin Durai If you’ve been on the Internet a lot lately, you’re probably familiar with Jokgu the chicken. Jokgu is a musician and as close to being a celebrity as a chicken can get. Jokgu is the Taylor Swift of chickens, except that Jokgu does not sing about ex-boyfriends. Jokgu’s talent isn’t in singing […]

A cheap cellphone makes life easier

By Melvin Durai My 12-year-old daughter, Divya, had been asking me for a cellphone for a couple of years and I finally decided to buy her one, not because I thought she absolutely needed one, but because I was tired of her borrowing mine. “Daddy, can I use your phone for just a minute?” she […]

Man Kaur inspires us to run

By Melvin Durai Most people dream of retiring in their sixties and taking it easy. Some of them might want to keep working, but by the time they reach their seventies, they’re ready to relax, drink tea and reminisce about the good old days. Ask them if they’d like to do any running and they […]

मोदी – अभियानों के ‘साईड इफ़ेक्ट’

संतराम बजाज भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी न जाने कहाँ कहाँ से नई नई स्कीमें ढूंढ के लाते हैं ? इस में  कोई संदेह नहीं है कि वे भारतवासियों का भला चाहते हैं, परन्तु उन स्कीमों के side effects क्या हो सकते हैं, उन की ओर उनका ध्यान नहीं गया शायद| भले ही […]

मतलबी हो जा ज़रा, मतलबी

संतराम बजाज कल एक फ़िल्मी गाने के बोल, “मतलबी हो जा ज़रा, मतलबी”, कानों में पड़े और मैं सोचों के समुन्द्र में गोते लगाने लगा| यह गाना किस के लिए लिखा है?  हम पहले से मतलबी नहीं हैं कि इन्हें हमें बताने की आवश्यकता पड़ रही है कि हम मतलबी बन जाएँ| यह गाना ,भारतीय […]

Search Archive

Search by Date
Search by Category
Search with Google