Category archives for: Humour

ऐसे थोड़े न होता है ?

संतराम बजाज कोई तो रोके मोदी जी को| किस स्पीड से अभियान पे अभियान चलाए जा रहे हैं|हिन्दुस्तान के अच्छे भले सिस्टम को बदलना चाहते हैं|सब घोटाले बंद करवा रहे हैं और जो हो चुके हैं उन के करने वालों को तिहाड़ जेल में डाले जा रहे हैं| भला कोई बात हुई? आखिर वे कितने […]

सरकारी न्योता…

संतराम बजाज  “बजाज साहिब, आप वहां दिखाई नहीं दिए?” हमारे मित्र वर्मा जी ने पूछा| “कहाँ ” “अरे, भई पार्लियामेंट हाउस में |” “जनाब, हम ने कोई चुनाव आदि जीता नहीं तो हम भला वहां क्यों जाते?” “अरे, मैं तो पार्लियामेंट हाउस में पार्टी की बात कर रहा हूँ, जहाँ यहाँ के सब प्रतिष्टित लोगों […]

इस्तीफे ही इस्तीफे…..

संतराम बजाज  “लो जी, अब सिध्धू भी इस्तीफों के ड्रामे में शामिल हो गया,” दर्शन सिंह बड़े ड्रामाई अंदाज़ में बोला| पहले राहुल अकेला था| उस ने शायद हवा में तीर फेंका था, लेकिन जब किसी और ने इस्तीफा पेश नहीं किया तो उसे शायद शक होने लगा कि कहीं उस ने अपने पाँव पर […]

आ जा, अब तो आ जा!

संतराम बजाज  दो तीन दिन से बड़ा परेशान फिर रहा हूँ! ख़ास कर आज सुबह से बैठा हूँ? न कहीं जा सकता हूँ, यहाँ तक कि बाथरूम जाने में हिचकचाहट हो रही है कि कहीं वह आ न जाए और दरवाज़ा न खुलने पर वापस चला जाए| आप सोच रहे होंगे कि ऐसा भी कौन […]

विशेष योग-शिविर बाबा रामदेव का….

संतराम बजाज भारत के प्रसिद्ध योग गुरु बाबा रामदेव लोकसभा के चुनाव के बाद चिंतित हैं| कारण? बड़ी तादाद में चुनावों में हारे हुए नेता लोग| हार जाने और गठबंधन टूट जाने के कारण, एकदम से उन के व्यवहार में तबदीली आ रही है| हीन भावना, बिना बात के गुस्सा, दूसरों को कसूरवार समझना, उन […]

Deepak Chopra offers tips on Hotel Room Health

By Melvin Durai I recently spotted an article in the New York Times entitled “Deepak Chopra’s Tips for a Healthier Hotel Room.” I was quite excited to read it. After all, Chopra is a New Age spiritual leader, as well as a doctor who specializes in alternative medicine, so isn’t it about time that he […]

२०१९ लोक सभा चुनाव उपरान्त, राहुल-मोदी संवाद

संतराम बजाज   “नमस्कार मोदी जी|,” फोन उठाने पर आवाज़ आई| “नमस्कार, कौन बोल रहा है” “इतनी जल्दी भूल गए ? वही ‘चौकीदार चोर है’ वाली मधुर आवाज़ वाला|” “ही!ही! – अरे राहुल बाबा – तुम्हारा हारने के बाद रो रो कर गला कुछ सूख गया है, इसलिए पहचान नहीं पाया| वैसे गला तो मेरा […]

खुफ़िया डायरियां ..भाग २

संत राम बजाज पूरे पांच साल बाद फिर मेरे हाथ लगी हैं कुछ खुफिया डायरियां जो भारतीय  लीडरों की हैं| पिछले लोकसभा के चुनावों के समय मैं ने उन के कुछ अंश आप के सामने रखे थे| जिन में प्रमुख नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, जो उस समय प्रधान मंत्री बनने के लिए मैदान में थे, […]

If retirement isn’t for you, retire from it

By Melvin Durai Many people, especially those in their late 50s or older, count down the days until retirement. It’s their reward for several decades of hard work, an opportunity to do whatever they want – sleep all morning, watch reruns of “Law & Order,” take a nice hot bath every other month. Having no […]

लौट के सिद्धू घर को आये – भाग २

संतराम बजाज “आओ सिद्धु, आओ | कहो, कैसे रास्ता भूल गए इधर का ?”  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को देख कर कहा| “कपतान साहब,  अब आप ही मेरी कुछ सहायता कर सकते हैं| मेरे सितारे गर्दिश में आ गए हैं|”   सिद्धु बड़ी धीमी आवाज़ में बोला| “क्यों, क्या हुआ?” अमरिंदर सिंह अनजान बनते […]

Search Archive

Search by Date
Search by Category
Search with Google