नया साल, नये संकल्प !

… संत राम बजाज

महाभारत में एक संजय हुए हैं, जिन के पास एक  टीवी थी जिस पर आये हुए प्रोग्राम को केवल वह ही देख और सुन सकते थे| कहते हैं कि उन के पास दिव्य-दृष्टि थी| कुछ ऐसी ही शक्ति मेरे पास भी आ गई थी जो नये वर्ष के कुछ दिन रही | उस से जो जानकारी मुझे मिली है मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूँ| हालांकि इस में मेरी जान को खतरा भी हो सकता जिस का भय संजय को नहीं था|

असल बात की ओर आते हैं, बहुत ही मशहूर और शक्तिशाली लोगों के नये साल के संकल्प मेरे हाथ लगे हैं| ये संकल्प बाद में  पब्लिक को बताएँगे वे लोग, परन्तु चाशनी में घोल कर | उन में से कुछ ही बता रहा हूँ| तो सुनिये, प्योर देसी घी में तले हुए !

नरेंद्र मोदी (प्रधान मंत्री भारत) 

“इस वर्ष  चुनाव का कोई ख़तरा नहीं है, इसलिए कड़े कड़े फैसले और क़ानून बनाऊंगा  जिस का आरम्भ मैं ने पिछले वर्ष से शुरू कर दिया है| कई बड़े मुद्दे हैं| पिछले साल कश्मीर में पुलवामा हत्या काण्ड के बाद, ’बालाकूट’ किया| चुनाव जीते, ५ साल पक्के| कश्मीर में 370 की छुट्टी (सारा भारत खुश – कुछ कश्मीरी नेताओं को अन्दर करना पड़ा ), करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोला (सिख खुश), तीन तलाक़ बिल पास  (मुस्लिम महिलाएं खुश), अयोध्या में  राम मंदिर (हिन्दू खुश), CAA (बहुत सारे धर्मों के भारत में आये  शरणार्थी खुश) और अब NPR. (एक धर्म के लोग कुछ विरोध कर रहे हैं – मान जायेंगे) |                          इस वर्ष, मेरे कई संकल्प हैं  – पाकिस्तान पर नकेल, कांग्रेस मुक्त और परिवार वाद मुक्त भारत, जामिया  और JNU को  काबू ( एक दो की नाम बदली कर देंगे ), उन में मुख्य हैं|

योगी अदित्यनाथ (मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश) :

मैं सन्यासी, ब्रह्मचारी यदि सियासत में आया हूँ तो क्यों? हिंदुत्व की सेवा करने| जो मेरे रास्ते में आयेगा उसे छोडूंगा नहीं| कांग्रेस और भुआ–भतीजे की सरकारों ने मुसलमानों को सिर पर चढ़ा रखा था और हिन्दुओं को नपुंसक बना दिया था |‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वालों का वह हाल करूंगा कि याद रखेंगे| घर के अंदर घुस के मारूंगा|”  

 मेरा संकल्प तो बिलकुल सीधा है – हिन्दू धर्म और गऊमाता की रक्षा|

सोनिया गांधी (कांग्रेस अध्यक्ष): 

मैं तो इस लड़के से तंग आ चुकी हूँ| गधे की समझ में कुछ नहीं आता, पता नहीं क्या नशा करता है कि हर रोज़ कुछ न कुछ बवाल खड़ा  किये रहता है| हर वक्त मोबाइल से चिपका रहता है|  इस साल, एक तो इस का मोबाइल बंद और दुसरे इस की शादी का कोई जुगाड़ करती हूँ |”

प्रियंका (वाड्रा) गांधी :

पहले  तो मैं  पति-धर्म का पालन करूंगी और राबर्ट को हर आने वाले खतरे से बचाने के लिए मैं पॉलिटिक्स में घुसी रहूँगी | दादी से शक्ल मिलती है, इस का लाभ तो मिलेगा ही| दुसरे माँ  और भाई के लिए भी तो मेरा फ़र्ज़ बनता है| माँ का सपना राहुल को PM की कुर्सी पर बैठे देखना है| इसी चक्कर में उसे जनेऊ तक पहनवा दिया|

मुझे कोशिश तो करनी होगी, हालांकि अब ५ साल कोई चांस नहीं| 

राहुल गांधी : 

पता नहीं मेरी माँ को क्या हो गया है? हाथ धोकर मेरे पीछे पड़ी हुई है | क्या सपना, सपना लगा रखा  है,  मुझे नहीं बनना प्रधान मंत्री| मुझे ये भाषण वाषण करने नहीं आते| ऊट-पटांग बातें मुंह से बोल जाता हूँ| ’पप्पू’  कहते हैं लोग मुझे! इतनी बेईज्जती! 

 मैं इस साल स्वामी रामदेव के आश्रम में नाम बदल कर रहूँगा, यही मेरा संकल्प है |”

ममता बेनर्जी (मुख्य मंत्री बंगाल) :

मैं  मोदी को रसगुल्ले खिलाती थी, मुझे क्या पता था कि जिस थाली में खायेगा उसी में छेद करेगा| पिछले साल थप्पड़ मारने की धमकी दी थी, फिर भी नहीं डरा | इस के CAA और NRC से हमें कोई फर्क नहीं पडेगा, मैं जानती हूँ, पर विरोध नहीं किया तो सब वोट मोदी ले जाएगा |                 

 विरोध में धरने और पद-यात्रा इस वर्ष का संकल्प है |”   

केजरीवाल (मुख्य मंत्री दिल्ली) : 

इस में कोई शक नहीं है कि दिल्ली में  हम ही जीतेंगे |  गरीबों के लिए बिजली पानी, माफ़ कर रखा है, महिलाओं को बसों में सफर फ्री, अस्पतालों में इलाज फ्री |

 इस वर्ष प्याज फ्री करने का इरादा है|”

नवजोत सिंह  सिध्धू : 

भलाई का जमाना ही नहीं  रहा | ‘न खुदा ही मिला, न विसाले सनम’- कितने साल मोदी  की तारीफ़ में लगाये, फिर राहुल जैसे निकम्मे का गुणगान किया, कुछ नहीं हासिल हुआ| यहाँ तक कि पाकिस्तान के इमरान खान के क़सीदे पढ़े और उस के आर्मी चीफ बाजवा  को जप्फी भी मारी, पर करतारपुर साहिब का सारा क्रेडिट किसी और को दे दिया| मेरी नौकरी भी गई | और तो और Sony TV वालों ने भी ‘कपिल शर्मा  शो’ से  निकाल बाहर किया| 

 इस साल मैं बिलकुल किसी को जप्फी नहीं डालूँगा  और न ही शायरी करूंगा, यह मेरा पक्का संकल्प है| ठोको  ताली!”

इमरान खान( प्रधान मंत्री पाकिस्तान) : 

पिछले साल बड़ी कोशिश की लेकिन मोदी को नीचा  न दिखा सका, न जाने किस मिट्टी का बना हुआ है| पकड़ा हुआ पायलट भी वापिस कर दिया, करतारपुर का रास्ता भी खोल दिया, फिर भी कुछ बात नहीं बनी| उलटा कश्मीर में 370 ख़त्म कर के अब हमारे हिस्से को भी हड़पने के चक्कर में है| मेरे देशवासी भी अव्वल नम्बर के खोते (गधे) हैं  कि मुझे ही बदलने की सोच रहे हैं | अब मेरा क्या होगा? अपनी बेगम बुशरा बीबी से टूना करवाना पड़ेगा|

अपनी नौकरी यानी कुर्सी बचानी है, यही मेरा इरादा है|

 डोनाल्ड ट्रम्प (अमेरिकन प्रधान ) : 

मेरी बड़ी मौज रही है | सारा देश मेरे साथ है, सिवाए कुछ सिरफिरे Democrats के, जो मुझे impeach करना चाहते हैं| मेरी पॉलिसियों से देश में खुशहाली है, नौकरियां हैं| चाइना और ईरान जैसे  आतंकी मुस्लिम देशों पर मैंने शिकंजा कसा हुआ है और इसी लिए मेरी जीत पक्की है| 

 यही मैं इस साल भी करूंगा और  जीत का संकल्प है |”

 प्रिंस चार्ल्स

 

“हर साल की तरह, मेरा तो  केवल एक ही संकल्प है कि मैं इस वर्ष गद्दी पर बैठ जाऊं | डर लगा रहता है कि ‘हर मेजेस्टी’ कहीं मेरे बेटों में से किसी एक  को यह सब न दे दे| छोटे की बीवी बहुत चालाक है |”   

Short URL: http://www.indiandownunder.com.au/?p=14695

Posted by on Jan 10 2020. Filed under Community, Hindi, Humour. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Both comments and pings are currently closed.

Search Archive

Search by Date
Search by Category
Search with Google